पत्नी से प्रेम | Desi Kahani | Romantik Hindi Story | Love Story In Hindi | Best Hindi Story

Desi Kahani : अभी-अभी मेरी पत्नी के साथ मेरी शादी हुआ था और हम लोग उसको उसके घर से अपने घर ले जा रहे थे जब मैं उसे गाड़ी में लेकर बैठाने लगा तो गाड़ी की आगली सीट पर पहले से ही एक कुत्ता आकर बैठ गया यह एक जर्मन शेप नस्ल का कुत्ता था जिससे मुझे मन ही मन में बहुत डर लगता था लेकिन मैं किसी को बताता नहीं था मुझे हैरान हुआ कि यह कुत्ता कहां से आ गया तो मेरे ससुर जी ने कहा कि नहीं नहीं दामाद जी यह तो आपके साथ ही जाएगा

 क्योंकि यह हमारी बेटी का है और यह हमारी बेटी के बिना नहीं रह सकता उस समय में क्या बोलता मैंने कहा बिल्कुल ले जाते हैं इसको साथ कोई दिक्कत नहीं है लेकिन मसला तो मुझे अभी से ही शुरू हो गया था क्योंकि वह कुत्ता मेरी पत्नी के साथ-साथ था और उसका साथ ही नहीं छोड़ रहा था इधर मेरे वाले रिश्तेदारों ने कहना शुरू कर दिया कि तुम्हारी पत्नी तो दहेज में कुत्ता लेकर आई है

 भाई हमने तो सुना था लड़कियां हैं इसमें गाड़ी लेकर आती है फ्रिज लेकर आती है यह तुम्हारी पत्नी कुत्ता लेकर क्यों आई है मुझे बड़ी शर्मिंदगी हो रही थी बात तो मजाक में की जा रही थी लेकिन फिर भी अजीब लग रहा था पर आज तो मेरी शादी की रात थी जब मैं अपने कमरे में जा रहा था तो बहुत खुश था मैंने फिलहाल अपने दिमाग से सारी बातें निकाल चुका था क्योंकि मुझे पता था कि आज की रात सबकी जिंदगी में एक ही दफा आती है 

और यह रात बहुत खूबसूरत होती है मैं कुछ भी नहीं सोचना चाहता था लेकिन जब मैं अपने कमरे के अंदर गया तो सामने का जो माहौल था वह देखकर मैं हैरान रह गया वह कुत्ता तो मेरे कमरे में पहले से ही बैठा था ना सिर्फ मेरे कमरे में सजक बैठा था बल्कि मेरे ही बिस्तर पर बिल्कुल उसी जगह पर बैठा था जहां पर मैं सोने वाला था और मेरी पत्नी जो दुल्हन बनी हुई थी वह उसके सिर पर हाथ फेर रही थी

 मैंने कहा यह क्या कर रही हो तुम सिमरण यह यहां क्या कर रहा है तो मेरी पत्नी ने कहा यह यहां नहीं होगा तो कहां होगा आपको तो पता है कि यह मेरे बिना नहीं रहता और अब भी इसकी किसी के साथ दोस्ती भी नहीं हुई है अगर उसको बाहर छोड़ेंगे तो कुछ और हो जाएगा इसीलिए अच्छा है कि यह हमारे कमरे में ही रहे मैंने कहा इसका मतलब यह तो नहीं था कि हमारी शादी की पहली रात भी यह यहां पर रहेगा

 तो मेरी पत्नी ने अपने कंधे उचका और कहा कि हां यही मतलब है कि यह मेरे बिना कहीं भी नहीं रहता मैं बहुत हैरान हुआ लेकिन उसके बाद जब उसने मुझे एक बात बताई तो हैरान तो फिर बहुत छोटा शब्द रह गया मुझे ऐसा लगा कि मेरा दिमाग ही फट जाएगा उसने कहा कि यह कुत्ता तो मेरा मेरी मां को बड़ा शौक था बड़े घर से बहू लेकर आने का वह हमेशा यही कहती थी कि मैं बहुत बड़े घर से लड़की लेकर आऊंगी लड़की चाहे शक्ल की जैसी भी हो लेकिन अमीर घर से लाऊंगी

 

Also read –  हमेशा शक अच्छा नहीं | Short Moral Stories In Hindi | Best Hindi Story

 

 

 इसलिए उसने बहुत जल्दी में मेरा रिश्ता पक्का कर दिया और उस लड़की का नाम मुझे सिमरण बताया लड़की की तस्वीर दिखाई तो लड़की शक्ल की तो अच्छी थी लेकिन कोई इतनी भी ज्यादा खूबसूरत नहीं थी पर उन लोगों ने कहा कि सारी शादी का खर्च हम लोग उठाएंगे आप जो कहेंगे हम आपको देंगे और मेरी मान के मुंह से यह निकल गया कि हमें कुछ नहीं चाहिए तो उन लोगों ने भी तुरंत कह दिया कि यह तो फिर बहुत अच्छी बात है इसका मतलब आप उन लोगों में से नहीं है जो दहेज के लालच में बेटे की शादी करते हैं

 आपका यह कहना हमें बहुत अच्छा लगा मेरी मान ने सोचा था कि वह दो-तीन दफा कहेंगे कि नहीं नहीं हम तो अपनी बेटी को बहुत कुछ देना चाहते हैं तो फिर मेरी मां कहेगी के जी जैसी आपकी मर्जी लेकिन मेरी मान ने मना किया तो वह फौरन ही मान गए यहां तक तो ठीक था क्योंकि बाकी के खर्चे फिर भी वही लोग उठा रहे थे हम लोग तो फिर भी फायदे में जा रहे थे लेकिन जब उन्होंने दहेज में एक कुत्ता दिया तो फिर मेरी सारी बनी बनाई इज्जत तो खराब हो गई वह कुत्ता तो मेरे साथ ही चल पड़ा 

और फिर पहली रात मेरी पत्नी ने उसे कमरे में ही रखा जिस कमरे में एक हो उस कमरे में आखिर कोई क्या कर सकता है बस इसी तरह यह रात गुजर गई इस घर में मेरी मां को और मुझे यह सब कुछ बहुत बुरा लग रहा था बाकी सब रिश्तेदार यहां पर रहना नहीं चाहते थे पर बार-बार कह रहे थे इस कुत्ते को बांध दो ना जाने क्यों घर में घुसा दिया कहीं बाहर बांध दो बस ठीक है घर में क्या करेगा और अच्छा है कुत्ते की बहुत सारे फायदे होते हैं घर की रखवाली करेगा 

लेकिन कमरे के अंदर ले जाने की क्या जरूरत पड़ गई मैं अपनी पत्नी के सामने कुछ बोल नहीं सकता था उसके बाप ने मेरी पक्की नौकरी लगवाने की बात की थी मेरी फिलहाल कोई भी अच्छी नौकरी नहीं थी मेरी मां ने कहा था कि तेरी नौकरी लग जाएगी तो सिर्फ तुम और तेरी पत्नी नहीं यह पूरा घर चलेगा वह खर्च देगा इसलिए वह भी उसके सामने कुछ नहीं बोल रही थी और वह हमारी इस बात का नाजायज फायदा उठा रही थी

 अब तो यह रोज की रूटीन बन गई रात होती तो वह कुत्ता मेरी पत्नी के साथ लिपट कर सो जाता और बिल्कुल वहां से हटता ही नहीं था मैंने अपनी पत्नी से कहा कि अगर मेरी उससे दोस्ती हो जाएगी तो यह मेरी बात भी मानेगा ना जैसे तुम्हारी बात मानता है मैंने उसके लिए डॉग फूड लेकर आया तो चलो मेरे इससे दोस्ती हो जाएगी तो मेरी भी बात मानेगा लेकिन वह मुझसे नफरत करता था 

मैं जैसे ही अपनी पत्नी के पास जाने लगता था तो वह भोंकना शुरू कर देता था उसके भोंकने की आवाज से सारे घर वाले जाग जाते थे घर में जवान बहन थी जवान भाई भी थे वह क्या सोचते होंगे यह बड़े भैया के कमरे से कैसी आवाज आ रही है लेकिन आवाजों की बात की जाए तो आवाजें तो कुछ और भी थी जैसे ही रात होती थी और मैं भी नींद में सो जाता था तो मुझे मेरी पत्नी के शिकायतों की आवाज आती थी पर जैसे ही मैं उसकी तरफ देखता था वह चुप हो जाती थी ऐसा दो-तीन बार हो चुका था

 इसका मतलब कि वह नाटक कर रही थी पर वह यह नाटक क्यों कर रही थी सिर्फ इतना ही नहीं था मेरी पत्नी पू पूरा दिन भी उस कुत्ते के पीछे ही पड़ी रहती थी उसका नाम उसने जादू रखा था कभी उसके लिए खाना बना रही होती कभी उसके लिए बहुत महंगे खिलौने लेकर आती थी कुत्ते के खिलौने बहुत महंगे होते हैं कभी उसके लिए खाना बना रही होती खिला रही होती और कभी उसके साथ खेल रही होती एक दिन मैंने कहा अब बस कर दो शाम हो गई है चलो अंदर चलते हैं तो कहने लगी जादू के साथ अगर आधा घंटा नहीं खेलो 

तो इसका मूड खराब हो जाता है फिर यह रात को तंग करेगा मैं दिल में कहा कि पहले कौन सा यह रात को हमें अकेला छोड़ देता है मेरे ससुर जी ने मेरी बहुत अच्छी जगह नौकरी लगवा दी थी उन्होंने कहा था कि इसी हफ्ते इंटरव्यू देने के लिए चले जाना इंटरव्यू तो बस एक बहाना है समझो तुम्हारी नौकरी पक्की है इसलिए मैं अपनी पत्नी पर गुस्सा भी नहीं कर पा रहा मेरे गुस्सा मुझे सबसे ज्यादा आ रहा था उस कुत्ते से डर भी लगता था वह कोई आम कुत्ता थोड़ी था जिसको आप छू कहो तो वह भाग जाए 

वह तो जर्मन शेप था मेरी पत्नी की हरकतें भी तो ठीक नहीं थी उसने जादू को बहाना बना रखा था वह कभी मेरे पास आने की बात नहीं करती थी कभी ऐसी कोई बात नहीं करती जिसको देखकर ऐसा लगता कि हम लोगों की अब भी शादी हुई है मैंने उसे कहा कि हम लोग कहीं खाना खाने चलते हैं अभी-अभी शादी हुई है तो थोड़ा वक्त एक दूसरे के साथ गुजारेंगे उसने कहा कि ऐसी होटल में जाएंगे जहां कुत्तों को भी बैठाने की इजाजत हो 

क्योंकि हर होटल में तो ऐसा नहीं होता मैंने कहा कि ऐसा तो बहुत बड़े होटलों में होता है और इतने बड़े होटल में जाने की मेरे पास पैसे नहीं है इतना कहकर मैं घर से निकल गया और मैंने सोचा कि बस प्रोग्राम तो खत्म हो गया अब हम लोग कहीं नहीं जा सकते लेकिन जब काम से वापस घर आया तो देखा कि मेरी पत्नी तैयार थी और उसने मेरे कपड़े भी तैयार कर रखे थे कहा कि आप तैयार हो जाएं हम लोग होटल जा रहे हैं मैंने कहा कि कौन से होटल मैंने तुम्हें कहा था ना कि मेरे पास ज्यादा पैसे नहीं है

 उसने बहुत बड़े फाइव स्टार होटल का नाम बताया तो मैं हैरान रह गया मैंने उसे कहा कि तुम्हें बताया था मेरे पास इतने पैसे नहीं है तो वह कहने लगी पैसों की क्या फिक्र करते हैं पापा ने हमारे लिए टेबल बुक करवा दी है आप बस तैयार हो जाएं और वहां पर जादू को भी कोई नहीं रोकेगा उसको भी अंदर ले जा सकते हैं यह एक तरफ बैठ जाएगा मैं इसके गले का पट्टा लेकर आती हूं इतनी वह ज्यादा खुश थी कि मैं बता नहीं सकता था यह खुशी मेरे साथ जाने की नहीं बल्कि जादू के साथ जाने की थी

 यह जादू तो हम दोनों के रिश्ते पर अपनी पूंछ रखकर बैठ गया था हम लोग होटल चले गए जादू के लिए अलग खाना मंगवाया गया हमारे लिए अलग वह खाना खाते हुए वह हमारे साथ ही बैठा रहा जब भी मैं अपनी पत्नी से कोई प्यार की बात करने की कोशिश करता तो वह कहती जादू यह खाओगे यह खाना है तुम्हें बार-बार उसकी तरफ देखता हूं फिर लोगों ने भी उससे पूछना शुरू कर दिया कि आपने कब से पाला हुआ है और वह लोगों को बताने लगी बचपन से पाला हुआ है मैं बैठा रहा और बस इसी तरह यह शाम भी गुजर गई

 जब रात को वापस आए तो हम दोनों ही बहुत थके हुए थे और सो गए अब मुझे यह सब ना सिर्फ बुरा नहीं लग रहा था बल्कि मुझे गुस्सा आ रहा था मेरे ससुर हम लोगों का बहुत साथ दे रहे थे वह हमें महीने के खर्चे के पैसे देते थे उन्होंने मेरी नौकरी भी लगाई थी कहीं आना जाना ना होता तो वह इंतजाम करते थे अपनी एक गाड़ी भी हमें दे दी कहां कि हमारे पास दो गाड़ियां हैं एक गाड़ी आप ले लो हमारी बेटी ने कहा आना जाना होगा तो दिक्कत नहीं होगी मेरी मां बहुत खुश थी क्योंकि इतना सब कुछ हम कभी भी खुद नहीं ले सकते थे 

हमने तो कभी सोचा भी नहीं था कि हम गाड़ी लेंगे हमारी तो इतनी औकात नहीं थी कि हम गाड़ी में पेट्रोल डाल वा सके लेकिन यह सब कुछ मेरे ससुर की वजह से हो रहा था तो मेरी मान भी उनके गीत गाती थी और कहती थी कि तू इतना कुछ कभी भी नहीं कमा सकता था तेरे ससुर की वजह सब कुछ मिल रहा है तो बदले में एक कुत्ते को बर्दाश्त नहीं कर सकता पर मैं उनको क्या बताता कि वह कुत्ता तो हम लोगों के बीच में था लेकिन ऐसा भी नहीं था कि मेरी पत्नी बिल्कुल ही मेरा ख्याल नहीं करती थी 

वह मेरा थोड़ा बहुत ख्याल तो करती थी लोगों के सामने मुझे अपना पति तो मानती थी लेकिन कमरे में कुत्ते के साथ ही जिंदगी गुजार रही थी अब आप लोग ही बताओगे इस तरह तो व वारिक जीवन नहीं गुजरता ऐसे तो नहीं होता ना पति-पत्नी को तो अकेले में टाइम चाहिए होता है वह तो जानवर था फिर मैंने सोचा कि जब यह कमरे से जा ही नहीं रहा तो मुझे भी इसकी तरफ से ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है 

लेकिन मेरे सर पर एक मुसीबत थोड़ी थी मुसीबत यह भी ठीक है जैसे ही मैं अपनी पत्नी के करीब जाने लगता था तो यह कुत्ता भौंकता था फिर एक दिन हम अपनी पत्नी के यहां दावत पर गए और वहां उसकी पुरानी दोस्त आई थी और दादी भी दादी ने बातों-बातों में बताया कि यह सिमरण तो कुत्तों से इतना डरती थी कि अगर कुत्ता खड़ा होता तो यह रास्ता बदल लेती थी अगर उसे कुत्तों से इतना ही डर लगता था तो फिर उसने इतना बड़ा कुत्ता क्यों पाला हुआ था क्योंकि अगर आप किसी चीज से डरते हैं

 तो आप उसे कभी भी अपने पास नहीं पालेंग आप तो उस चीज को पालते हैं जो आपको अच्छी लगती है यानी अगर मैं शेर से डरता हूं तो मैं शेर ही क्यों लूंगा मैं तो कोई खरगोश पा लूंगा क्योंकि मुझे खरगोश अच्छे लगते हैं इससे पहले कि दादी से कुछ और बोलता उसने खुद ही दादी को चुप करवा दिया बल्कि वह अपनी दादी की भील चेयर पकड़कर उन्हें वहां से दूर ले गई और कहने लगी कि दादी आपके सोने का वक्त हो गया है जबकि दादी तो मुझसे और भी बातें करना चाहती थी 

मुझसे मिलकर बहुत खुश थी पर साफ पता चल रहा था कि वह उन्हें मेरे पास नहीं छोड़ना चाहती थी इसका मतलब कि बात कुछ और थी और बात सीधी नहीं थी क्योंकि उसकी दोस्त के मुंह से भी एक बात निकल गई उस उसने कहा कि अब तो खुश हो ना तुम कभी-कभी कुछ लोगों की किस्मत देर से जागती है लेकिन जाग जाती है तुम्हारा यह वाला पति तो बहुत अच्छा है उसे भी सिमरण ने आंखें दिखाई और चुप करवा दिया उसने ऐसा क्यों कहा कि तुम्हारा यह वाला पति बहुत अच्छा है 

यह वाला पति से क्या मतलब था क्या उससे बोलने में गलती हुई थी लेकिन यह कैसी गलती थी जब हम लोग वापस आए तो सिमरण का मूड बहुत खराब था वह कह रही थी कि मैंने फिर कभी इस लड़की से बात नहीं करनी यह ऐसी उल्टी बातें करके मेरा मूड ऑन ऑफ कर देती है मैंने सिमरण को कहा कि तुम उसे छोड़ो मुझे तुमसे जरूरी बात करनी है तुम्हारी दादी तो कह रही थी तुमको कुत्तों से बहुत ज्यादा डर लगता है और जहां कुत्ता बैठा होता था तुम तो रास्ता ही बदल लेती थी फिर तुमने इस जादू को क्यों पाला हुआ है

 तो कहने लगी कि सारी जिंदगी कोई भी मनुष्य एक जैसा नहीं रहता वक्त के साथ बदल जाता है उस का मूड पहले ही खराब था वह मुझे तेवर दिखाती थी क्योंकि मुझे पता था कि सब कुछ उसका बाप कर रहा है एक दिन मैं अपनी अलमारी में कुछ तलाश कर रहा था मेरी पत्नी जब से घर आई थी उसने मुझे कोई सुख नहीं दिखाया था अलमारी भी बिखरी रहती थी और हमारी अलमारी के अंदर कुत्ते की चीजें भी पड़ी होती थी इसे बिल्कुल भी सफाई का कोई शौक नहीं था लेकिन जब अलमारी में से अपनी कोई घड़ी तलाश कर रहा था 

तो मुझे एक बहुत अजीब सी चीज मिली मैंने देखा कि मेरी पत्नी के पास दो मंगलसूत्र थे उसे मंगलसूत्र पहनने की आदत ही नहीं थी वह अक्सर उतार के कहीं भी रख देती थी फिर मैं उठाकर उसको दे रहा होता था कि मेरी मां इन मामलों में बड़ी गुस्से वाली थी वह कहती थी कि मंगलसूत्र को अपने गले से नहीं उतारो और यहां पर मेरी पत्नी उसे कहीं भी रखकर भूल जाती थी लेकिन यह क्या उसके पास दो मंगल सूत्र थे

 एक मंगल सूत्र तो हमारी तरफ से ही था क्योंकि मैंने खुद ही खरीदा था और मेरी मां ने अपनी पसंद से बनवाया था लेकिन यह दूसरा मंगलसूत्र उसके पास क्या कर रहा था मैंने तो कभी नहीं सुना था कि अगर किसी लड़की की पहले शादी नहीं हुई तो वह मंगल सूत्र खरीद कर रखती है क्योंकि यह तो सुहाग की निशानी होता है तो ऐसा तो नहीं हो सकता था कि उसने शौक में खरीदा था फिर यह किसका था

 मैंने उससे पूछा और कहा कि तुम्हारे पास अगर दो मंगल सूत्र हो तो एक दे दो मेरे दोस्त की शादी है और उसने बनवाया नहीं है आखिरी वक्त में तो कोई ऑर्डर पर भी नहीं बना कर देता वह गुस्सा हो गई और कहने लगी कि मेरे पास दो मंगलसूत्र कहां से आएंगे क्यों आपने मुझे दो मंगलसूत्र पहनाए थे आप ही की निशानी है वह और एक ही है मेरे पास यह देखें मैंने पहन रखा है उसने हमारे वाला मंगल सूत्र ही पहना था लेकिन दूसरा वाला रखा हुआ था मैंने कहा कि तुम्हारे पास और नहीं है

 तो उसने कहा कि नहीं बाबा और नहीं है यह कोई गहना तो नहीं है जो एक जैसे तीन से चार लेकर रखे हो यह तो सुहाग की निशानी होती है ना मन ही मन में सोचने लगा कि हां तुम्हें कौन सा अपने सुहाग से प्यार है जो अब तुम बड़ी सावित्री बन रही हो मैंने कहा कि ठीक है मुझे ऐसा लगता था कि कहीं ना कहीं वह भी समझ गई होगी कि मैंने दूसरा मंगल सूत्र देख लिया है लेकिन वह झूठ बोलने में ही अपना फायदा समझ रही थी क्योंकि मैं उसके झूठ को झूठ साबित नहीं कर सकता था क्या कहता उसको मैं कि मैंने तलाशी ली है 

और देख लिया है तो ऐसे में वह और भी ज्यादा बुरा मान जाती मैंने अपने दोस्त को यह सारा कुछ बता दिया तो उसने कहा कि तू पागल है तुझे अभी तक यह समझ नहीं आ रही कि तेरी पत्नी उस कुत्ते को इस्तेमाल कर रही है वह तेरे पास ही नहीं आना चाहती वरना क्या कुत्ता रात में सोता नहीं है क्या वह कुत्ते को बाहर नहीं बांध सकती अरे तेरे जैसा पागल इंसान तो मैंने अपनी पूरी जिंदगी में नहीं देखा वैसे मेरा यह दोस्त बड़ा समझदार था इसके पास बाकी दोस्त भी मशवरे लेने के लिए आते थे क्योंकि इसकी शादी बहुत पहले हुई थी

 जब हम लोग स्कूल में पढ़ते थे तभी इसकी शादी हो गई थी और उसकी पतिकी के साथ बहुत खुश थी जब उसने कहा कि यह सब कुछ बहाना है झूठ है तो मुझे भी लगने लगा कि यह बहाना और झूठ ही हो सकता है आखिर एक जानवर को खुद से इतना भी क्या आदी करना कि अपने पति की ही परवाह ना करना और बस जानवर के साथ ही बैठे रहना और अपने पति के बारे में भी ना सोचना क्या मेरी पत्नी के दिल में कोई इच्छा नहीं थी फिर मैंने जब उसे और बातें बताई तो वह कहने लगा कि कुछ और भी हो सकता है 

आजकल तो बड़ा कुछ हो रहा है मैंने कहा कि क्या कहना चाहता है तू तो उसने मुझे एक अजीब सी वीडियो दिखाई जो बिल्कुल भी हजम नहीं हो रही थी पर उसने कहा कि देख दुनिया में यह सब कुछ हो रहा है मैं हैरान रह गया और मैंने कहा कि फिर ऐसी औरत तो पागल ही हो सकती है तो उसने कहा कि तुझे क्या पता तेरी पत्नी पागल है या नहीं उसने तुझे अपने बारे में कभी कुछ बताया है अपने अतीत के बारे में बताया है कभी मैंने कहा कि बताया तो कुछ नहीं है

 उसने तो मुझसे अपनी कोई भी बात नहीं की ना वह मुझसे कोई चीज मांगती है ना मेरे पास बैठती है कभी-कभी यह पूछ लेती है कि खाना खाया है या खाना लगवा दूं या अगर उसका बाप हमारे लिए किसी अच्छी जगह के टिकट बुक कर देता है तो हम लोग वहां चले जाते हैं लेकिन वहां भी वह मेरी तरफ से देखती भी नहीं है मेरे दोस्त ने कहा कि फिर तुझसे बड़ा पागल तो इस पूरी दुनिया में कोई नहीं है तुझे तो कोई कदम उठाना चाहिए पता करना चाहिए मैंने उससे कहा कि जब इतना कुछ बता दिया है

 अब तुझसे क्या शर्माना मैंने उसे वह बात भी बता दी कि जब रात होती है तो मुझे मेरी पत्नी की सिसकियों की आवाज आती है और वह कुत्ता मेरी पत्नी के साथ ही सो रहा होता है इस बात पर तो वह पूरा ही हैरान रह गया उसने कहा कि फिर जो मैंने तुझे वीडियो दिखाई है ना यह वही मामला है लेकिन ऐसे लोगों को पकड़ने के लिए सिर्फ उनको यह नहीं कह सकते कि हमें पता है कि तुम ऐसा करते हो उनको रंगे हाथों पकड़ना पड़ेगा तुझे अपनी पत्नी के खिलाफ ठोस सबूत चाहिए मैंने कहा कि फिर उस सबूत का क्या करूंगा

 क्योंकि अगर वह मेरी जिंदगी से चली गई तो यह गाड़ी यह नौकरी सब कुछ चला जाएगा तो मेरे दोस्त ने कहा कि तू भी ना पागलों की तरह सोचकर तुझे उसे अपनी जिंदगी से नहीं निकालना सिर्फ उसे अपनी नजर के नीचे लेकर आना है जब उसे पता होगा ना कि तुम उसके सबसे बड़े राज के बारे में जानता है तो फिर फिर वह तेरे साथ पत्नी बनकर रहेगी अभी तो वह तेरे साथ मालकिन बनकर रह रही है क्योंकि उसको पता होगा कि उसकी जिंदगी का सबसे बड़ा राज तेरे पास आ गया है 

और तेरे पास सबूत भी है मुझे नहीं लगता कि इस बात के बारे में उसके मम्मी पापा को पता होगा उनको भी पता नहीं होगा इसीलिए तुझे सबसे पहले यह काम करना होगा वह अमीर है खूबसूरत है रईस बाप की बेटी है ऐसी लड़कियों को काबू करने के लिए कुछ ना कुछ करना ही पड़ता है वह इतनी आसानी से के हाथ नहीं आती जितना तूने उसे खाला जी का घर समझ लिया है अब मैं उसकी बातें सुन रहा था

 और उसी के इशारों पर चलने वाला था क्योंकि बात तो वह ठीक कर रहा था और मेरा घर बर्बाद करके उसे क्या मिलना था वैसे भी उसने घर बर्बाद करने की बात तो एक दफा भी नहीं की थी उसने कहा था कि तुझे उसे अपनी जिंदगी में ही रखना है लेकिन अपने तरीके से मैंने नहीं पूछा क्या करूं तो वह कहने लगा कि जो कुछ होता है रात में होता है और तू पूरा दिन घर पर नहीं होता तो एक काम कर अपने कमरे में एक सीसीटीवी कैमरा लगा दे और पूरे दिन की रिकॉर्डिंग करके देख कि तेरी पत्नी और वह कुत्ता क्या करते हैं

 रात की भी रिकॉर्डिंग कर और उसके बाद तुझे पता चल जाएगा अगर एक दिन से पता नहीं चलता तो दो-तीन दिन की रिकॉर्डिंग कर लेंगे लेकिन अपनी पत्नी से छुपाकर कैमरा लगाना है तुझे ऐसा कैमरा लाकर दूंगा कि जो कमरे में लगाना बहुत आसान है बस उसे दीवार के साथ लगा देना वह इतना छोटा होगा कि नजर भी नहीं आएगा और तेरा काम हो जाएगा लेकिन हमें कैमरा किराए से लेना होगा

 मैंने कहा कि मैं कुछ भी करने को तैयार हूं बस तुझे मेरी मदद करनी होगी मुझे तो यह सब कुछ पहले समझ ही नहीं आया मैं तो अभी तक ऐसे ही जो रहा हूं तो उसने कहा कि पहले बता देता तो पहले मदद कर देता पर अब भी देर नहीं हुई है चिंता नहीं कर मैं तेरे साथ हूं उसने मुझे एक कैमरा लाकर दे दिया और मुझे उसका सारा फंक्शन भी समझा दिया मेरी पत्नी जब कमरे से बाहर थी तो मैंने वह कैमरा भी दीवार पर लगा दिया और ऐसी जगह पर लगाया जहां से बेड बिल्कुल साफ नजर आता हो

 क्योंकि मेरे दिमाग में मेरे दोस्त की बातें घुस गई थी वह जो कह रहा था बिल्कुल ठीक कह रहा था आजकल के जमाने में कुछ भी हो सकता था अब वह पहले वाला जमाना नहीं रहा था किसी को कोई उल्टा काम करने के लिए बाहर जाना होता अब तो घर से बाहर जाने की जरूरत भी नहीं वह एक कमरे में बैठकर ही बहुत कुछ कर सकता है मेरे दोस्त ने तो मेरी सोच का रुख बदल दिया था

 जिस तरह से व को कह रहा था उस तरह से तो मैंने कभी सोचा भी नहीं था लेकिन आज ही जब मुझे उसकी सच्चाई के बारे में पता चलने वाला था तो उसने एक बड़ी अजीब बात कह दी कहने लगी कि मैं आपके साथ बहुत बुरा कर रही हूं ना मैंने कहा कि क्या मतलब मुझे तुम्हारी बात समझ नहीं आ रही है उसने कहा कि मैं सारा टाइम जादू को देती हूं और आपको बिल्कुल भी समय नहीं देती मुझे कभी-कभी बहुत बुरा लगता है मैंने कहा फिर तुम ही बताओ इसका क्या हल है क्या तुम जादू को बाहर रख दोगी

 उसने कहा कि रख तो दूंगी लेकिन दिल नहीं मानता मेरा मैंने कहा कि वह जानवर है दुनिया में और भी लोग जानवर पालते हैं लेकिन कोई भी जानवर को इस तरह अपने पास नहीं रखता मैं भी तुमसे यह बात करने वाला था पर फिर मैंने यह बात नहीं की शायद तुम्हें बुरा ना लग जाए पर देखो कुछ सोचो कि क्या सब कुछ ठीक है तो कहने लगी हां आप बिल्कुल ठीक कह रहे हैं ऐसा नहीं है 

लेकिन मैं कोशिश करूंगी कि मैं इस सबको बदल सकूं मैंने कहा मुझे बहुत नींद आ रही है मैं सोने जा रहा हूं आज मैं जल्दी ही सोने का नाटक करने वाला था तो वह जो भी करती थी खुल के कर सके लेकिन आज वह मुझे बहुत परेशान लग रही थी मैं उसी की बातों के बारे में सोच तो रहा था पर सोचते सोचते ही मुझे सचमुच में गहरी नींद आ गई और मैं सो गया सुबह हुई तो सुबह हर दिन की तरह ही थी मैं अपने ऑफिस चला गया और पीछ वह अकेली थी आज मेरी मम्मी को भी कहीं जाना था

 उनकी बहन की तबीयत खराब थी तो उसने घर पर बिल्कुल अकेले होना चाहिए सब कुछ तो मेरे हक में था अच्छी बात थी ताकि मुझे पता चल जाता कि वह पूरा दिन क्या करती रहती है मैंने अपने दोस्त को भी फोन किया उसने कहा कि तुम फिक्र नहीं करो एक दफा काम हो जाए तो कैमरा ले आना उसमें जो भी रिकॉर्डिंग हुई होगी वह एक वीडियो की सूरत में मैं तुम्हें तुम्हारे फोन में भेज दूंगा और तुम आराम से देख सकते हो रात हो चुकी थी या मेरे 24 घंटे हो चुके थे पूरा दिन उस कैमरे ने रिकॉर्डिंग की थी 

इससे ज्यादा तो उसमें बैटरी भी नहीं थी अब मैंने सोच लिया था कि इसको हटा लूं मैंने बहुत तरीके से वह कैमरा उठा लिया और जाकर अपने दोस्त को दे दिया उसने तो इसमें थोड़ा समय लगेगा तुम घर चले गए कहीं तुम्हारी बीवी को तुम पर शक हो जाए मैं वीडियो तुम्हारे फोन पर भेज दूंगा मैंने कहा ठीक है मैं अपने घर आ गया आज तो मुझे नींद नहीं आ रही थी मैंने देखा तो मेरी पत्नी खुद ही सो गई मैं अपने दोस्त को मैसेज कर रहा था उसने कहा माफ करना थोड़ी देर हो गई मैं कहीं और लग गया था

 लेकिन तुरंत वीडियो भेजता हूं और उसने मुझे वीडियो भेज दी और जब मैं वीडियो देखा तो मुझे ऐसा लगा कि मेरे कदमों के नीचे से धरती ही खिसक गई है क्योंकि उसे वीडियो में जो मैं देखना चाह रहा था वह तो नहीं था पर जो था वह बहुत ही अजीब था मेरी पत्नी जादू को गले से लगाकर रो रही थी बहुत ज्यादा रो रही थी वह कम से कम तीन घंटे तक रोती रही और ऐसा ही नहीं था कि सिर्फ सो रही थी उसके हाथ में एक मंगल सूत्र था वही मंगल सूत्र था जो हमने उसको नहीं दिया था

 और उसके हाथ में किसी की तस्वीर भी थी वह उसके तस्वीर को अपने दिल से लगाए बैठी थी रो रही थी जादू से प्यार करती जैसे बस उसी के कंधे सर रखे रो रही थी कुछ बोल भी रही थी लेकिन उसके कैमरे में इतनी सुविधा नहीं थी कि मुझे उसकी आवाज आती वह बहुत ही धीरे से बोली होगी सबसे पहले तो मैं अपने दोस्त के पास गया और मैंने कहा जैसा तुमने कहा था ऐसा कुछ नहीं है बल्कि मामला कुछ और ही है

 इसलिए तुम्हें बता रहा हूं कि तुम मेरी पत्नी के बारे में और कोई बातें मत पूछो वह तो किसी और मुश्किल में लग रही थी तभी तो ऐसे रो रही थी फिर एक दिन मैंने अपनी पत्नी से खुद ही यह बात करने के बारे में सोचा तो वही मुझे बता दे कि आखिर क्या बात है क्योंकि अब मैं और क्या कर सकता था मैंने उसके जासूसी भी लगा ली थी कैमरा लगा लिया था मैंने उसको वीडियो दिखा दिया पहले उसे कहा था तुमसे बड़ी जरूरी बात करनी है फिर उसे वह वीडियो दिखा दी और कहा कि मुझे सब पता चल गया है

 अब मुझे बताओ कि वह मंगलसूत्र तुम्हारे पास कहां से आया और तुम्हारे पास किसकी तस्वीर थी और तुम मेरे साथ ऐसा क्यों कर रही हो वह पहले थोड़ा सा घबरा गई लेकिन उसके बाद रोने लगी मैंने कहा मैं तुम्हारा पति हूं हमारा पूरी जिंदगी का साथ है अगर तुम मुझे नहीं बताओगी तो किसको बताओगी तो उसने मुझे ऐसी बात बताई कि मैं हैरान रह गया फिर मैंने आज मेरी जिंदगी का सबसे बड़ा निर्णय लेना था मेरी पत्नी ने मुझे बताया कि मैंने आपसे बहुत बड़ा झूठ बोला था मेरी पहली शादी हो चुकी थी 

और जिससे मेरी शादी हुई वह इंसान मेरी जिंदगी में अपनी मर्जी से आया था मैं उसे बहुत ज्यादा पसंद करती थी उसके बिना नहीं रह सकती थी हमारी प्रेम कहानी बहुत खूबसूरत थी और यह जादू उसी का था मेरा नहीं मुझे तो कुत्तों से बहुत डर लगता था लेकिन जब उससे प्यार किया तो फिर हर उस चीज से भी प्यार किया जो उसके दिल के करीब थी इसीलिए जादू भी अच्छा लगने लगा लेकिन उसके साथ सिर्फ एक साल ही गुजारा कि वह दुनिया से चला गया मेरी जिंदगी का बहुत बुरा दिन था 

मेरे पास उसकी मोहब्बत के अलावा कुछ भी नहीं था लेकिन वह इस तरह से चला गया जादू उसके बिना नहीं रह सकता इसलिए मैं इसे अपने साथ ले आई हम लोग एक साथ रहने लगे लेकिन फिर मेरे मान बाप ने कहा कि तुमने शादी की अपनी मर्जी से अब तुम्हें दूसरी शादी हमारी मर्जी से करनी होगी हम तुम्हें खुश देखना चाहते हैं तो मेरी शादी आपके साथ करवा दी गई मेरे बाबा ने जानबूझकर ऐसे इंसान को चुना जो थोड़ा मजबूर हो ताकि उसे कंट्रोल कर सके

 इसलिए उन्होंने तुम्हारी नौकरी लगवाई जादू को मुझसे बहुत ज्यादा प्रेम है वह अपने मालिक के बाद मुझे ही मालिक समझता है और वह नहीं चाहता कि उसके मालिक के अलावा कोई भी मेरे करीब आए इसीलिए वह अप्पर भोगता था पर मैं इस बात को मानती हूं कि मैंने जादू को इस्तेमाल किया दिन रात किया मेरे दिल से अपने पहले पति को निकाल नहीं पाई इसीलिए कुत्ते का बहाना बनाकर आपसे दूर रहती थी सारी सारी रात रोती रहती थी लेकिन आखिर में मुझे यह सब कुछ बहुत बुरा लगने लगा

 मैंने आपको पसंद नहीं किया था पर आप अच्छे इंसान हैं तभी तो सब कुछ बर्दाश्त कर रहे थे और कुछ बोलते भी नहीं थे इसलिए मैंने सोचा था कि मैं ऐसा नहीं करूंगी लेकिन आपने मेरी जासूसी करवाई तो मैंने कहा कि हां मुझे माफ कर दो मेरे पास भी तो और कोई रास्ता नहीं था तुमने मुझे मजबूर कर दिया था देखो जो भी तुम्हारी हालत है मैं समझ सकता हूं तुमने मेरे से झूठ बोला यह बात मुझे अच्छी नहीं लगी तुम्हारे मान बाप को झूठ बोलने की क्या जरूरत थी लेकिन जो भी है अब हम लोग पति-पत्नी हैं 

अगर साथ रहना है तो हमें इन चीजों को खुद ही देखना होगा तुम्हें अपने पति को भुलाना होगा अगर नहीं भूल सकती हो तो चली जाओ मैं तुम पर कोई दबाव नहीं डालूंगा लेकिन याद रखना कि वह इस दुनिया में नहीं है और मैं तुम्हारा पति हूं अगर मेरी तरफ मोहब्बत का एक कदम बढ़ाओ गी तुमको हमेशा खुश रखने की कोशिश करूंगा सोच लो कि तुम्हें अपने पहले पति की यादों के साथ जीना है तो तुम जा सकती हो मैं तुम्हें एक महीने का वक्त देता हूं मुझे पता था कि जो कुछ उसने किया था अपनी मर्जी से नहीं किया था 

और मैं उससे कोई बदला नहीं लेना चाहता था गुस्सा नहीं करना चाहता था अगर वह मेरे साथ रहना चाहती थी तो ठीक है लेकिन मैं उसे जबरदस्ती करके नहीं रख सकता हूं इसलिए मैंने उसे कह दिया था कि तो एक महीना है लेकिन इस एक महीने में उसने एक बहुत अच्छा काम किया जादू को बाहर बंधना शुरू कर दिया वह अभी भी उसका ख्याल करती थी लेकिन कमरे में नहीं रखती थी

 मैं अभी भी उससे दूर था लेकिन मेरे पास आने की कोशिश करती थी वह कहती थी कि तुम ही मेरे लिए सब कुछ हो ऐसा हमारा मामला ठीक होने लगा और भगवान ने कृपा की आज हम बहुत अच्छी जिंदगी जी रहे हैं और हमें किसी बात की चिंता नहीं है जादू कभी भी चिपको नहीं था जो बहुत ज्यादा चिपक के रहता था किसी को उसके पास नहीं आने देता था यह सब कुछ मेरी पत्नी ने जानबूझकर किया था और उसे एक बहाने की तरह इस्तेमाल किया था लेकिन अब वह ऐसा कुछ नहीं कर रही थी और यह सब खत्म हो चुका था

 मुझे भी मेरी पत्नी से प्रेम हो गया यह सब कुछ इतना आसान नहीं होता कहने को तो बहुत आसान होता है पर दिल से मुश्किल होता है इसलिए मैं समझ सकता हूं कि मेरी पत्नी ने ऐसा किया शायद वह अपनी जगह ठीक थी लेकिन अब हम लोग साथ हैं इससे बढ़कर कोई बात नहीं है दोस्तों मेरी बीवी ने मुझे बहुत बड़ी बात छुपाई थी उसने मुझे धोखा दिया था अगर मैं चाहता तो उसे छोड़ सकता था लेकिन मैंने ऐसा नहीं किया और आप ही बताएं कि मैं सही किया या गलत

 

Also Read – 

ऐतेबार | Short Hindi Story | Sabak Amoz Hindi Story | Best Hindi story | Meri Kahaniyan

जेठानी जी आपने ठीक नहीं किया | Love Story In Hindi | Sad And Emotional Hindi Story | Meri Kahaniyan

Leave a Comment