Namaz Ki Surah Hindi Me PDF Download (10 Surah)

Namaz Ki Surah Hindi Me PDF Download is given at the bottom of the article. You Can online read and also download it on your mobile or laptop.

इस्लाम धर्म में अल्लाह की इबादत नमाज़ के ज़रिए की जाती है ,हर मुस्लिम मर्द और औरत पर एक दिन में 5 टाइम की नमाज़ फ़र्ज़ होती है। जिस में सबसे पहले सुबह वाली नमाज़ को फज़र , दोपहर वाली को ज़ोहर , सूरज ढलने से पहले वाली को असर , सूरज डूबते ही मगरिब और रत की नमाज़ को ईशा कहा जाता है।

इन नमाज़ो में क़ुरान पाक की कुछ सूरह को पढ़ा जाता है। तो इस लेख में आपको Namaz Ki Surah Hindi Me PDF निचे दिए गए लिंक से मिल जायेगा जिसे आप अपने मोबाइल में डाउनलोड कर के सुरक्षित रख सकते हैं तथा अपने अनुसार इसको याद कर सकते हैं।

Namaz Ki Surah Hindi Me PDF Overview

PDF nameNamaz Ki Surah Hindi Me PDF
No. of Pages2
PDF Size0.5 MB
LanguageHindi/Arabi
CategoryReligious
PDF CreditMultiple Sourse
DownloadAvailable

Namaz Ki Surah Hindi Me PDF Download

Namaz क्या है ?

हर मज़हब में अपने भगवान /अल्लाह को खुश करने के लिए अलग अलग तरीके अपनाये जाते हैं जहा हिन्दू मज़हब में अपने भगवान को पूजा के ज़रिये खुश किया जाता है तो वही मुस्लिम मज़हब में अल्लाह ताला को खुश करने के लिए नमाज़ का सहारा लिया जाता है।

नमाज़ के ज़रिये हर मुसलमान अपने रब की इबादत करता है जिससे अल्लाह ताला की ख़ुशनूदी हासिल की जाती है। हर मुसलमान पर 5 टाइम की नमाज़ फ़र्ज़ है और ये किसी भी सूरत में माफ़ नहीं होती। हुज़ूर अकरम मुहम्मद (स.) ने बताया है की नमाज़ मेरे आँखों की ठंडक है। इसे समय पर ज़रूर अदा किया करो।

नमाज़ में क़ुरान पाक की कुछ आयतो को पढ़ा जाता है और आज के लेख में आपको Namaz Ki Surah Hindi Me PDF का लिंक ऊपर मिल जायेगा ,जिसकी मदद से आप नमाज़ में पढ़े जाने वाली सूरह को याद कर सकते हैं।

नमाज़ पढ़ने का तरीका :

नमाज़ पढ़ने से पहले वुज़ू करना ज़रूरी होता है। वुज़ू के लिए आप पानी के ज़रिये तीन बार कुल्ली करते है तीन बार नाक में पानी डालते हैं तथा इसके बाद पुरे चेहरे को धोते है उसके बाद हाथ और पैर को टखने तक धोते है।

वुज़ू करने के बाद आप नमाज़ का एहतेमाम कर सकते है। अलग अलग समय में नमाज़ की रकाते अलग अलग होती है। इसीलिए समय के अनुसार आप नमाज़ का एहतेमाम करें।

नमाज़ में सबसे पहले सूरह फातिहा पढ़ी जाती है जोकि क़ुरान पाक की पहली सूरह है। सूरह फातिहा पढ़ने के बाद क़ुरान की कोई भी एक सूरह या काम से काम तीन आयात ज़रूर पढ़ना चाहिए ताकि आपके नमाज़ की एक रकात पूरी हो सके।

Namaz Ki Surah Hindi Me PDF

10 Namaz Ki Surah Name

दोस्तों इस आर्टिकल में आपको क़ुरान पाक कीनमाज़ में पढ़ने वाली ( Namaz Ki Surah Hindi Me PDF ) 10 सूरह की पीडीऍफ़ दी गई है जिसे आप अर्थ के साथ डाउनलोड कर सकते हैं।

S. No Surah Name
1 .Surah Al Fatiha
2 .Surah Al Kausar
3 .Surah Al Falak
4 .Surah Al Naas
5 .Surah Ekhlas
6 .Surah Kadr
7 .Surah Al Nasr
8 .Surah Al Kafirun
9 .Surah Al Ma’un
10 .Surah Al Quraish

नमाज़ में पढ़ी जाने वाली 10 सूरह

1 – सूरह फातिहा –

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम
अल्हम्दु लिल्लाहि रब्बिल आलमीन
अर्रहमानिर्रहीम
मालिकि यौमिद्दीन
इय्या-क न बुदु व इय्या-क नस्तीइन
इहदिनस्सिरातल्-मुस्तकीम
सिरातल्लज़ी-न अन्अम्-त अलैहिम गैरिल्-मग़जूबि अलैहिम् व लज्जॉल्लीन

तर्जुमा

शुरू करता हू अल्लाह के नाम से जो रहमान व रहीम है।
तारीफ़ अल्लाह ही के लिये है जो तमाम क़ायनात का रब है।
रहमान और रहीम है।
रोज़े जज़ा का मालिक है।
हम तेरी ही इबादत करते हैं, और तुझ ही से मदद मांगते है।
हमें सीधा रास्ता दिखा।
उन लोगों का रास्ता जिन पर तूने इनाम फ़रमाया जो माअतूब नहीं हुए, जो भटके हुए नहीं है।

2 – सूरह अल कौसर

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम

इन्ना आतय ना कल कौसर

फसल्लि लिरब्बिका वन्हर

इन्ना शानिअका हुवल अब्तर

“तर्ज़ुमा “

शुरू करता हु अल्लाह के नाम से जो रहमान व रहीम है।

(हे नबी!) हमने तुम्हें कौसर प्रदान किया है।

तो तुम अपने रब के लिए नमाज़ पढ़ो तथा क़ुरबानी दो।

बेशक तुम्हारा दुश्मन ही बे नाम निशान है।

3 – सूरह अल फलक

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम

कुल अऊजु बिरब्बिल फलक

मिन शर रिमा ख़लक़

वामिन शर रिग़ासिकिन इज़ा वकब

वमिन शर रिन नफ़फ़ासाति फ़िल उक़द

वमिन शर रि हासिदिन इज़ा हसद

“तर्ज़ुमा ”

शुरू करता हु अल्लाह के नाम से जो रहमान व रहीम है।

(ऐ रसूल)कह दो, “मैं (अल्लाह) की पनाह माँगता हूँ, जो सुबह  का रब है,

हर चीज़ की बुराई से जो उसने पैदा की, पनाह माँगता हूँ

और अंधेरी रात की बुराई से जब उसका अंधेरा फ़ैल जाए

और गांठों में फूँक मारने वालों की बुराई से,

और हसद करने वाले की बुराई से जब वह हसद करे।”

4 – सूरह अल नास

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम

कुल अऊजु बिरब्बिन नास

मलिकिन नास

इलाहिन नास

मिन शर रिल वसवा सिल खन्नास

अल्लज़ी युवस विसु फी सुदूरिन नास

मिनल जिन्नति वन नास

” तर्जुमा “

शुरू करता हु अल्लाह के नाम से जो रहमान व रहीम है।

कह दो, “मैं (अल्लाह) की पनाह मांगता हूँ, जो सभी इंसानो का रब है,

लोगो के बादशाह 

लोगो के खुदा 

लोगो के दिलो में दहशत डालने वाले से  जो बुराई करता है 

और जिन्न और इंसानों के बीच से।”

5 – सूरह इखलास

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम
कुल हुवल लाहू अहद
अल्लाहुस समद
लम यलिद वलम यूलद
वलम यकूल लहू कुफुवन अहद

“तर्ज़ुमा “

शुरू करता हु अल्लाह के नाम से जो रहमान व रहीम है।

(ऐ रसूल) तुम कह दो कि ख़ुदा एक है

ख़ुदा बरहक़ बेनियाज़ है

न उसने किसी को जना न उसको किसी ने जना

और उसका कोई हमसफर नहीं

6 – Surah Kadr

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम

इन्ना अनज़ल नाहु फ़ी लैलतिल कद्र
वमा अदरा कमा लैलतुल कद्र
लय्लतुल कदरि खैरुम मिन अल्फि शह्र
तनज़ ज़लूल मला इकतु वररूहु फ़ीहा बिइज़्नि रब्बिहिम मिन कुल्लि अम्र
सलामुन हिय हत्ता मत लइल फज्र

“तर्जुमा “

हम ने कुरान को शबे क़द्र में उतारा है

और आप को मालूम है कि शबे क़द्र क्या चीज़ है ?

शबे क़द्र हज़ार महीनों से बेहतर है

जिस में फ़रिश्ते रूहुल क़ुदुस (जिबरईल अलैहिस सलाम) अपने रब की इजाज़त से हर हुक्म को लेकर उतरते हैं

ये रात बहुत सलामत रात है, जो सुबह होने तक रहती है

7- Surah Al Nasar

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम

इज़ा जा आ नसरुल्ला ही वल फतह

वरा अयतन्नासा यदखुलूना फी दीनिल ल्लाही अफ़वाजा

फसब्बिह बिहमदी रब्बिका वस्तगफिरहू, इन्नहू काना तौव्वाबा

8- Surah Al Kafirun

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम

कुल या अय्युहल काफिरून
ला अ अबुदु मा ताबुदून
वला अन्तुम आ बिदूना मा अ अबुद
वला ना आबिदुम मा अबद्तुम
वला अन्तुम आबिदूना मा अअ बुद
लकुम दीनुकुम वलिय दीन

9- Surah Al Ma’un

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम

अ-र ऐतल्लज़ी युकज्जिबु बिद्दीन

फ़ज़ालिकल्लज़ी यदु अल्-यतीम

वला यहुज्जु अला तआमिल मिस्कीन

फवैलुल् लिल्-मुसल्लीन

अल्लज़ी-न हुम अन् सलातिहिम् साहून

अल्लज़ी-न हुम् युराऊ-न

व यम नऊनल माऊन

10- Surah Al Quraish

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम

लि ईलाफि कुरैश [1]

इलाफिहिम रिहलतश शिताई वस सैफ [2]

फल यअ’बुदू रब्बा हाज़ल बैत [3]

अल्लज़ी अत अमहुम मिन जूअ व आमनहुम मिन खौफ [4]

Conclusion:

दोस्तों इस लेख में आपको Namaz Ki Surah Hindi Me PDF का लिंक ऊपर मिल गया होगा इसके अलावा 10 सूरह हिंदी में भी दिया गया है तथा इनका अर्थ भी साथ में दिया गया है। आप इन Namaz Ki Surah Hindi Me PDF को अपने मोबाइल में ज़रूर डाउनलोड कर ले ताकि आप इन सूरह को आसानी से याद कर सकें। धन्यवाद

Related Post –

Leave a Comment