श्री दुर्गासप्तशती पाठ। Durga Saptashati PDF Download Hindi

नमस्कार साथियो, अगर आपको श्री दुर्गासप्तशती पाठ का पीडीऍफ़ चाहिए तो आज के लेख में आपको Durga Saptashati PDF डाउनलोड का लिंक नीचे आर्टिकल में दिया हुआ है जिसे आप अपने मोबाइल या लैपटॉप में आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं।

नवरात्रि में माता दुर्गा के सभी 9 रूपों की पूजा की जाती है तथा श्री दुर्गासप्तशती पाठ का रोजाना जप किया जाता है। नवरात्री के दिनों में इसका जप अधिक लाभदायक होता है | श्री दुर्गासप्तशती पाठ में 700 श्लोक शामिल है, जिसका निरंतर पाठ करके माता रानी को प्रसंन्न कर सकते हैं। दोस्तों Durga Saptashati PDF को आप निचे दिए गए लिंक से डाउनलोड कर सकते हैं।

Durga Saptashati PDF Overview

PDF नामDurga Saptashati PDF (श्री दुर्गासप्तशती पाठ)
No. Of Pages240
PDF Size0.5MB
LanguageHindi
PDF Categoryधार्मिक /Religion
PDF Credit/SourceOpen Source
PDF Download19 May

श्री दुर्गासप्तशती पाठ (Durga Saptashati PDF)

दुर्गा सप्तशती, को देवी महात्म्यम या चंडी पथ के नाम से भी जाना जाता है, एक हिंदू शास्त्र के अनुसार दुर्गा सप्तशती पाठ में देवी दुर्गा की कहानी है जिसमे विभिन्न राक्षसों के खिलाफ उनकी लड़ाई का वर्णन करता है। दुर्गा सप्तशती मूल रूप से  संस्कृत भाषा में लिखा गया है और देवी दुर्गा के भक्तों द्वारा अत्यधिक पूजनीय है।

दुर्गा सप्तशती शास्त्र को 13 अध्यायों या प्रकरणों में विभाजित किया गया है, जिन्हें “अध्याय” के रूप में जाना जाता है और इसमें कुल 700 श्लोक हैं।जिसमे 535 पूर्ण श्लोक , 108 अर्ध श्लोक और ७ उपाच शामिल हैं। ये सभी अध्याय और श्लोक  देवी दुर्गा की महिमा और अभिव्यक्तियों का वर्णन करता है क्योंकि वह महिषासुर, शुंभ, निशुंभ और रक्तबीज जैसे शक्तिशाली राक्षसों को हराती हैं।

नवरात्री के दिनों में माँ दुर्गा के भक्त लोग 9 दिन तक माँ दुर्गा की पूजा करते है। जो देवी दुर्गा को समर्पित नौ-रात्रि उत्सव है। भक्तों का मानना ​​है कि इस शास्त्र का जाप करने या पढ़ने से आध्यात्मिक आशीर्वाद मिलता है, और जीवन की बाधाएं दूर होती हैं और सुरक्षा मिलती है।

Durga Saptashati PDF Path (पाठ करने की विधि )

दुर्गा सप्तशती पाठ दुर्गा सप्तशती शास्त्र का एक अनुष्ठानिक पाठ है। दुर्गा सप्तशती को पाठ करने की विधि निम्न हैं। 

तैयारी: दुर्गा सप्तशती पाठ करने के लिए सबसे अफ्ले सुबह स्नान करे तथा एक स्वच्छ वस्त्र धारण करें और एक  शांतिपूर्ण स्थान खोजें। दुर्गा सप्तशती पूजा के लिए देवी दुर्गा की तस्वीर या मूर्ति लगाएं। तथा घी का दीपक या मोमबत्ती जलाएं, 

संकल्प: दुर्गा सप्तशती पाठ को एक संकल्प के साथ शुरू करें । अपना नाम, सस्वर पाठ का उद्देश्य और विशिष्ट अध्याय जो आप पाठ करने जा रहे हैं, बताएं।

आह्वान: दुर्गा सप्तशती शुरू करने से पहले एक मंत्र का जाप करें या दुर्गा बीज मंत्र: “ओम दम दुर्गाये नमः” (ॐ दुं दुर्गायै नमः) पढ़कर देवी दुर्गा का आह्वान करें।

पाठ: दुर्गा सप्तशती के श्लोकों का पाठ करना प्रारंभ करें। आप अपनी सुविधा के अनुसार पूरे शास्त्र या विशिष्ट अध्यायों का पाठ कर सकते हैं। दुर्गा सप्तशती के अर्थ को समझने के लिए किसी पुस्तक या पाठ का उपयोग करें।

भक्ति: दुर्गा सप्तशती का सस्वर पाठ के दौरान एक श्रद्धापूर्वक और केंद्रित रवैया बनाए रखें। देवी दुर्गा के साथ अपने संबंध को गहरा करने के लिए छंदों के पीछे के अर्थ को समझने की कोशिश करें।

अभिषेक : यदि आपके पास दुर्गा की मूर्ति या चित्र है, तो आप उसे जल, दूध, शहद, या अन्य शुभ पदार्थों का उपयोग करके अभिषेक करें । देवी दुर्गाको फूल और सिंदूर चढ़ाएं।

आरती और प्रार्थना: देवी दुर्गा के सामने एक आरती के साथ पाठ करते हुए  समापन करें। देवी दुर्गा की प्रार्थना करें, उनका आभार व्यक्त करें, आशीर्वाद मांगें, और सुरक्षा और मार्गदर्शन मांगें।

प्रसाद का वितरण:  दुर्गा सप्तशती  पाठ करने के पश्तात परिवार के सदस्यों, दोस्तों, या आगंतुकों को प्रसाद (धन्य भोजन) वितरित करके पाठ समाप्त करें।

Durga Saptashati PDF

Durga Saptashati Path Benefits(श्री दुर्गासप्तशती पाठ के फायदे )

दुर्गा सप्तशती का पाठ या जप करने से भक्तों को कई लाभ मिलते हैं। जिसमे से कुछ लाभ निम्न दिए गए हैं। 

आध्यात्मिक आशीर्वाद: दुर्गा सप्तशती का पाठ एक शक्तिशाली आध्यात्मिक पाठ माना जाता है जो परमात्मा के साथ भक्तो के संबंध को गहरा करने में मदद करता है। भक्तो के अनुसार यह देवी दुर्गा के आशीर्वाद और कृपा का आह्वान करता है, जिससे भक्तो का आध्यात्मिक विकास और उत्थान होता है।

रक्षा और बाधाओं का निवारण : दुर्गा सप्तशती का पाठ नकारात्मक ऊर्जा, बुरी शक्तियों और जीवन में आने वाली बाधाओं से सुरक्षा प्रदान कर सकता है। दुर्गा सप्तशती का पाठ करने से भक्तो के चारों ओर दैवीय ऊर्जा की एक ढाल बनती है, जो उन्हें किसी भी प्रकार के नुकसान से बचाती है।

इच्छाओं की पूर्ति: अगर भक्त पूरी भक्ति और ईमानदारी के साथ दुर्गा सप्तशती का नियमित पाठ करते हैं तो उनकी  इच्छाओं और आकांक्षाओं की पूर्ति अवश्य होती है। दुर्गा सप्तशती के पाठ के द्वारा सफलता, समृद्धि, अच्छे स्वास्थ्य और समग्र कल्याण के लिए देवी दुर्गा का आशीर्वाद मांगा जाता है।

कठिनाइयों पर काबू पाना: मार्कंडेय पुराण में विभिन्न राक्षसों के खिलाफ देवी दुर्गा की लड़ाई का वर्णन है, जो कि बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है। दुर्गा सप्तशती का पाठ करके, भक्त अपने जीवन में आने वाली चुनौतियों और कठिनाइयों का सामना करने और उन्हें दूर करने के लिए शक्ति और साहस की तलाश करते हैं।

आंतरिक शक्ति और निडरता: दुर्गा सप्तशती का पाठ भक्तो में आंतरिक शक्ति, साहस और निडरता पैदा करने वाला माना जाता है।तथा यह एक सकारात्मक मानसिकता विकसित करने, आत्मविश्वास बढ़ाने और भय और असुरक्षा पर काबू पाने में मदद करता है।

शुद्धिकरण और सफाई: ऐसा माना जाता है कि दुर्गा सप्तशती के पवित्र श्लोकों का मन, शरीर और आत्मा के शुद्धिकरण पर बहुत अधिक प्रभाव पड़ता है। ऐसा कहा जाता है कि यह नकारात्मक ऊर्जा, अशुद्धियों और पिछले कर्म को दूर करता है। 

भक्ति संबंध: दुर्गा सप्तशती के पाठ में यदि भक्त अपनी पूरी भक्ति और श्रद्धा के साथ देवी दुर्गा की पूजा करता है तो उसका देवी दुर्गा के साथ संबंध गहरा होता है। यह देवी दुर्गा के के प्रति समर्पण, भक्ति और कृतज्ञता की भावना पैदा करता है,

Durga Saptashati PDF Download

Conclusion (सारांश )

तो दोस्तों आज के आर्टिकल में आपको Durga Saptashati PDF डाउनलोड का लिंक ऊपर मिल गया होगा। जहा से आप इसे डाउनलोड करके अपने मोबाइल या लैपटॉप में सेव कर सकते हैं। इस के अलावा इस आर्टिकल में आपको श्री दुर्गासप्तशती पाठ करने का तरीका तथा श्री दुर्गासप्तशती पाठ करने के फायदे भी बताये गए है।

इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको श्री दुर्गासप्तशती पाठ का पूरा ज्ञान जो गया होगा यदि आपको ये आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को भी शेयर कर दे ताकि वह भी Durga Saptashati PDF Download कर के आसानी से इस का जप कर सके। धन्यवाद

Related Article-

Saraswati Chalisa PDF Free श्री सरस्वती चालीसा

Shrimad Bhagwat Mahapuran pdf 2023 ,श्रीमद भागवत महापुराण गीता प्रेस गोरखपुर 

Hanuman Ashtak pdf Free Download

DMCA /Copyright

इस पीडीऍफ़ के लिंक का इस वेबसाइट के साथ कोई भी सम्बन्ध नहीं है , ये पीडीऍफ़ इंटरनेट पर उपलब्ध open source /domain से लिया गया है तथा ये केवल fair education के लिए लिया गया है। अगर इस पीडीऍफ़ से कोई भी समस्या हो तो हमें मेल जरूर करे। हम २४ घंटे के अंदर इसे अपने वेबसाइट से हटा देंगे। धन्यवाद

FAQ Durga Saptashati PDF

श्री दुर्गसप्तशती पाठ कितने बजे करना चाहिए?

श्री दुर्गसप्तशती पाठ प्रातःकाल में करना शुभ माना जाता है। वैसे तो इसका पाठ किसी भी समय किया जा सकता है।


श्री दुर्गासप्तशती में कितने अध्याय हैं?

श्री दुर्गासप्तशती पाठ में कुल 13 अध्याय तथा 700 श्लोक है।

मां दुर्गा को खुश करने के लिए क्या करना चाहिए?

नवरात्री में माँ दुर्गा के नाम का दिया जलाये तथा श्री दुर्गासप्तशती के पाठ का जप करना चाहिए ताकि देवी दुर्गा का आशीर्वाद आपको मिलता रहे।

Durga Saptashati PDF कहाँ से प्राप्त करें ?

Durga Saptashati PDF को आप www.pdfsewa.in वेबसाइट से निःशुल्क ,में प्राप्त कर सकते है।

Leave a Comment