Bajrang Baan PDF Free (बजरंग बाण पाठ) 2023

दोस्तों आज के लेख में आपको Bajrang Baan PDF देने वाला हूँ जिसे आप अपने मोबाइल में डाउनलोड कर सकते हैं। तथा इस पीडीऍफ़ के द्वारा आप बजरंग बाण का पाठ कर सकते हैं।

बजरंग बाण की रचना गोस्वामी तुलसीदास ने 16वीं शताब्दी में किया था। बजरंग बाण का पाठ बजरंग बली के लिए किया जाता है जिसके पाठ करने से बजरंग बलि भक्तो के सभी दुःख का निवारण कर देते हैं। इस लेख में आपको बजरंग बाण के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं तो आप इस लेख को अंत तक ज़रूर पढ़े।

Bajrang Baan PDF Overview

PDF NameBajrang Baan PDF (बजरंग बाण )
No. Of Pages6
PDF Size550 KB
PDF Categoryधार्मिक (Religious )
PDF Languageहिंदी /संस्कृत
PDF CreditMultiple Sourse
PDF Upload10 मई

बजरंग बाण क्या है ? (Bajrang Baan)

“बजरंग बाण” भगवान हनुमान (बजरंग बलि )को समर्पित एक हिंदू भक्ति भजन है। इस पाठ का जाप भक्तो को भगवान हनुमान का आशीर्वाद और सुरक्षा पाने के लिए किया जाता है। “बजरंग” शब्द भगवान हनुमान के नाम से लिया गया है, जिन्हें “बजरंग बली” के नाम से भी जाना जाता है, तथा बाण शब्द का अर्थ तीर या हथियार होता है।

एक मान्यता के अनुसार  बजरंग बाण की रचना 16वीं शताब्दी के हिंदू संत और कवि गोस्वामी तुलसीदास ने की थी। बजरंग बाण मूल रूप से अवधी भाषा में लिखा गया है जोकि  भगवान हनुमान के भक्तों के बीच एक लोकप्रिय प्रार्थना/भजन  है। अगर कोई भी व्यक्ति अपनी पूरी भक्ति और विश्वास के साथ बजरंग बाण का जाप करता है तो उसक जीवन में विभिन्न बाधाओं और कठिनाइयों पर काबू पाने में मदद मिल सकती है।

यहां  पर एक बात ध्यान रखने वाली है कि बजरंग बाण का उच्चारण सही से और सम्मान के साथ किया जाना चाहिए, क्योंकि यह गहरे आध्यात्मिक महत्व वाला एक शक्तिशाली मंत्र है। इसका जाप नकारात्मक भाव से या दूसरों को हानि पहुँचाने के साधन के रूप में नहीं करना चाहिए। बजरंग पाठ को हमेशा मंगवार से ही शुरू करना चाहिए।

बजरंग पाठ करने के लाभ (Benefit of Bajrang Baan)

बजरंग बाण भगवान हनुमान को समर्पित एक शक्तिशाली मंत्र है, बजरंग बाण का पूरी श्रद्धा और मन से जाप करने के निम्न लाभ है। 

सुरक्षा : मान्यता के अनुसार बजरंग बाण का पूरी श्रद्धा के साथ जाप करने से बुरी शक्तियों और नकारात्मक ऊर्जा से सुरक्षा मिल सकती है। पुराणों और वेदो के अनुसार  इसका जाप करने वाले व्यक्ति के चारों ओर एक सुरक्षा कवच बन जाता है। जोकि उसे बुरी चीज़ो  सुरक्षा देता है। 

जीवन में आने वाली बाधाओं पर काबू पाना: बजरंग बाण को भक्तो के जीवन में आने वाली बाधाओं और चुनौतियों पर काबू पाने में भी मदद करने वाला माना जाता है। यह भक्तो के जीवन में कठिन परिस्थितियों का सामना करने के लिए शक्ति, साहस और दृढ़ संकल्प प्रदान करता है। 

आध्यात्मिक विकास: अगर भक्त अपनी पूरी भक्ति और ईमानदारी के साथ बजरंग बाण का जप करते हैं तो उन्हें आध्यात्मिक विकास और आंतरिक परिवर्तन में मदद मिलती है। यह भक्तो को भगवान हनुमान के साथ एक गहरा संबंध विकसित करने औरउन की साधना को बढ़ाने में मदद कर सकता है।

बीमारी का इलाज :  माना जाता है कि बजरंग बाण के पाठ से रोगी के रोग भी दूर हो जाते हैं। शारीरिक या मानसिक बीमारियों  से पीड़ित व्यक्तियों के लिए ये जप बहुत ही अधिक फायदेमंद होता है 

इसके अलावा भी बजरंग बाण का जाप करने के बहुत से लाभ है ,बस आपको सच्चे मन और श्रद्धा भाव से इसका जाप करना चाहिए।

बजरंग बाण पाठ विधि (Bajrang Baan Path Vidhi )

बजरंग बाण का जाप करने के लिए आप को निम्न चरणों का पालन करना चाहिए 

एक शांत और शांतिपूर्ण जगह खोजें जहां आप बिना किसी परेशानी के आराम से बैठ सकें।

1- बजरंग बाण का प्रारम्भ हमेशा मंगलवार से करना चाहिए 

2- मंगलवार के दिन स्नान करके स्वच्छ वस्त्र धारण करे तथा भगवान हनुमान की तस्वीर या मूर्ति के सामने दीया या अगरबत्ती जलाएं।

3- सबसे पहले देवो के देव भगवन गणेश की पूजा करे फिर बजरंग बाण का पाठ करें। 

4 -फिर भगवन राम और सीता का नमन करे तथा अपना ध्यान भगवान हनुमान की तस्वीर या मूर्ति पर केंद्रित करें और उन्हें अपनी प्रार्थना और प्रणाम करें।

5- पूरी भक्ति और ईमानदारी के साथ बजरंग बाण का जाप शुरू करें। इसे आप अपनी सुविधा के अनुसार जोर से या धीरे से जप सकते हैं।

6- मंत्र का कम से कम 11 बार जप करें और हो सके तो 108 बार तक जप को जारी रखें।

7- जाप पूरा करने के बाद, भगवान हनुमान को लड्डू ,चूरमा तथा मौसमी फल चढ़ाये। 

8- पाठ पूरा होने के बाद कुछ मिनटों के लिए मौन में बैठें और मंत्र के स्पंदन को अपने भीतर स्थिर होने दें।

बजरंग बाण का जाप उचित उच्चारण और सम्मान के साथ करना महत्वपूर्ण है।इसीलिए पहले इसकी प्रैक्टिस भी कर ले या इसकी रिकॉर्डिंग को भी सुन ले ताकि उच्चारण करने में आपको कोई कठिनाई न हो। 

Bajrang Baan PDF Lyrics (सम्पूर्ण बजरंग पाठ हिंदी में )

दोहा

निश्चय प्रेम प्रतीति ते, बिनय करैं सनमान।
तेहि के कारज सकल शुभ, सिद्ध करैं हनुमान॥

बजरंग बाण चौपाई

जय हनुमंत संत हितकार, सुन लीजै प्रभु अरज हमारी
जन के काज बिलंब न कीजै, आतुर दौरि महा सुख दीजै
जैसे कूदि सिंधु महिपारा, सुरसा बदन पैठि बिस्तारा

आगे जाय लंकिनी रोका, मारेहु लात गई सुरलोका
जाय बिभीषन को सुख दीन्हा, सीता निरखि परमपद लीन्हा
बाग उजारि सिंधु महँ बोरा, अति आतुर जमकातर तोरा
अक्षय कुमार मारि संहारा, लूम लपेटि लंक को जारा

लाह समान लंक जरि गई, जय-जय धुनि सुरपुर नभ भई
अब बिलंब केहि कारन स्वामी, कृपा करहु उर अंतरयामी
जय-जय लखन प्रान के दाता, आतुर ह्वै दुख करहु निपाता
जय हनुमान जयति बल-सागर, सुर-समूह-समरथ भट-नागर

ॐ हनु-हनु-हनु हनुमंत हठीले, बैरिहि मारु बज्र की कीले
ॐ ह्नीं ह्नीं ह्नीं हनुमंत कपीसा, ॐ हुं हुं हुं हनु अरि उर सीसा
जय अंजनि कुमार बलवंता, शंकरसुवन बीर हनुमंता
बदन कराल काल-कुल-घालक, राम सहाय सदा प्रतिपालक

भूत, प्रेत, पिसाच निसाच, र अगिन बेताल काल मारी मर
इन्हें मारु, तोहि सपथ राम की, राखु नाथ मरजाद नाम की
सत्य होहु हरि सपथ पाइ कै, राम दूत धरु मारु धाइ कै
जय-जय-जय हनुमंत अगाधा, दुख पावत जन केहि अपराधा

पूजा जप तप नेम अचारा, नहिं जानत कछु दास तुम्हारा
बन उपबन मग गिरि गृह माहीं, तुम्हरे बल हौं डरपत नाहीं
जनकसुता हरि दास कहावौ, ताकी सपथ बिलंब न लावौ
जै जै जै धुनि होत अकासा, सुमिरत होय दुसह दुख नासा

चरन पकरि, कर जोरि मनावौं, यहि औसर अब केहि गोहरावौं
उठु, उठु, चलु, तोहि राम दुहाई, पायँ परौं, कर जोरि मनाई
ॐ चं चं चं चं चपल चलंता, ॐ हनु हनु हनु हनु हनुमंता

ॐ हं हं हाँक देत कपि चंचल, ॐ सं सं सहमि पराने खल-दल
अपने जन को तुरत उबारौ, सुमिरत होय आनंद हमारौ
यह बजरंग-बाण जेहि मारै, ताहि कहौ फिरि कवन उबारै
पाठ करै बजरंग-बाण की, हनुमत रक्षा करै प्रान की

यह बजरंग बाण जो जापैं, तासों भूत-प्रेत सब कापैं
धूप देय जो जपै हमेसा, ताके तन नहिं रहै कलेसा
ताके तन नहिं रहै कलेसा

उर प्रतीति दृढ़, सरन ह्वै, पाठ करै धरि ध्यान
बाधा सब हर, करैं सब काम सफल हनुमान

दोहा

उर प्रतीति दृढ़, सरन ह्वै, पाठ करै धरि ध्यान।
बाधा सब हर, करैं सब काम सफल हनुमान॥

इसे भी पढ़े – Shani Chalisa PDF Hindi शनि देव चालीसा 

 Shree Suktam PDF Free 

Bajrang Baan PDF Download

सारांश /Summary

तो दोस्तों आप ने आज के लेख में बजरंग बाण के लाभ , करने की विधि तथा Bajrang Baan PDF के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर ली होगी। आप Bajrang Baan PDF को अपने मोबाइल या लैपटॉप में डाउनलोड भी कर सकते हैं।

दोस्तों अगर आपको आज का ये लेख पसंद आया हैया कोई भी संदेह हो तो निचे कमेंट ज़रूर करना , आपको इसका जवाब ज़रूर दिया जायेगा।

DMCA /Copyright

इस वेबसाइट का Bajrang Baan PDF पर कोई भी मालिकाना हक़ नहीं है , तथा इस का पीडीऍफ़ विभिन्न open sourse से लिया गया है। अगर आपको इस पीडीऍफ़ से कोई भी समस्या हो तो आप मुझे ईमेल ज़रूर करें ,मैं इस पीडीऍफ़ को 24 घंटे के अंदर ही हटा लूंगा।

FAQ


बजरंग बाण पढ़ने से क्या क्या फायदा होता है?

बजरंग बाण का पाठ करने से बजरंग बलि आपकी परेशानियों को दूर करते हैं तथा शत्रुओ से सुरक्षा मिलती है। इसके अलावा आपके जीवन में सफलता प्राप्त होती है तथा असाध्य बीमारियों भी ठीक हो जाती है।


बजरंग बाण कब पढ़ा जाता है?

बजरंग बाण का पाठ मंगलवार के दिन किया जाता है। उस दिन आप सुबह स्नान करके स्वच्छ वस्त्र धारण करें तथा हनुमान जी की मूर्ति के सामने दिया जलाये तथा बजरंग बाण का पाठ प्रारम्भ करें।

Bajrang Baan PDF कहाँ से प्राप्त करें ?

Bajrang Baan PDF आपको www.pdfsewa.in वेबसाइट से प्राप्त कर सकते है। जोकि पूरी तरह से निःशुल्क है।

Leave a Comment